Health

जानिए मैदा खाने के नुकसान क्या-क्या हैं?

जानिए मैदा खाने के नुकसान क्या-क्या हैं?

आपने अक्सर लोगो को कहते हुए सुना होगा की मैदा और उससे बने सारे प्रोडक्ट्स हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही हानिकारक हैं। मैदा या रिफाइंड आटे को अगर आप रोज़ अपने आहार में शामिल करेंगे तो यह आपको तुरंत नुकसान नहीं करेगा। मैदे के कई साइड इफेक्‍ट होते हैं, जो लंबे समय तक प्रयोग करने के बाद ही पता चलता है।

 

जानिए मैदा खाने के नुकसान क्या-क्या हैं?

कैसे बनता है मैदा:
मैदा भी गेहूं से ही बनता है. जिस प्रकार आटे के लिए गेहूं को अच्छी तरह से साफ करना पड़ता है उसी तरह मैदे के लिए भी सबसे पहले गेहूं को अच्छी तरह से धो लिया जाता है. इसके बाद गेहूं की ऊपरी तह हटा ली जाती है. इसके बाद गेहूं के सफेद भाग को अच्छी तरह, खूब महीन पीस लिया जाता है .

जानिए मैदा खाने के नुकसान क्या-क्या हैं?

पिसाई के बाद प्राप्त चिकना और बिल्कुल महीन पाउडर ही मैदा होता है।

मैदे से बनी चीजें खाने का नुकसान:
मैदा गेहूं से बनता है।  एक ओर जहां गेहूं को स्वास्थ्य के लिए अच्छा माना जाता है वहीं मैदे को खतरनाक. इसकी सबसे बड़ी वजह ये है कि मैदा बनाते समय गेहूं के ऊपरी छिलके को हटा दिया जाता है। जिससे उसका फाइबर निकल जाता है।

ऐसे में उसमें किसी प्रकार का डाइट्री फाइबर नहीं रह जाता इसलिए जब कोई मैदे से बनी सामग्री का सेवन करता है तो ये पूरी तरह से पच नहीं पाता है। सही से पाचन न हो पाने के कारण इसका कुछ हिस्सा आंतों में ही चिपक जाता है और कई तरह की बीमारियों का कारण बन सकता है। इसके सेवन से अक्सर कब्ज की समस्या हो जाती है।

साथ ही मैदा बहुत अधिक मात्रा में तेल भी सोखता है। अधिक मात्रा में तेल के सेवन से भारीपन बना रहता है। ऐसे में कोशिश की जानी चाहिए कि मैदे से बनी चीजों का कम से कम सेवन करें।

जानिए मैदा खाने के नुकसान :

1 मोटापा बढ़ाए:

जानिए मैदा खाने के नुकसान क्या-क्या हैं?

बहुत ज्‍यादा मैदा खाने से शरीर का वजन बढ़ना शुरु हो जाता है और आप ओबीज़ होने लगते हैं। यही नहीं इससे कोलेस्‍ट्रॉल का लेवल और खून में ट्राइग्‍लीसराइड भी बढ़ता है। यदि आपको वजन कम करना है तो अपने खाने से मैदे को हमेशा के लिये हटा दें।

2 पेट के लिये खराब:

जानिए मैदा खाने के नुकसान क्या-क्या हैं?

मैदा पेट के लिये इसलिये खराब होता है क्‍योंकि इसमें बिल्‍कुल भी फाइबर नहीं होता, जिससे कब्‍ज होने की शिकायत होती है।

3 फूड एलर्जी होती है:

मैदे में ग्‍लूटन होता है, जो फूड एलर्जी को पैदा करता है। मैदे में भारी मात्रा में ग्‍लूटन पाया जाता है जो खाने को लचीला बना कर उसको मुलायम टेक्‍सचर देता है। वहीं गेंहू के आटे में ढेर सारा फाइबर और प्रोटीन पाया जाता है।

4 डायबिटीज का खतरा:

इसे खाने से शुगर लेवल तुरंत ही बढ़ जाता है क्‍योंकि इसमें बहुत ज्‍यादा हाई ग्लाइसेमिक इंडेक्‍स होता है। तो अगर आप बहुत ज्‍यादा मैदे का सेवन करते हैं, तो अग्न्याशय की फिक्र करना शुरु कर दें क्‍योंकि यह एक बार तो इंसुलिन का उत्पादन ठीक से कर देगा मगर बार बार महनत पड़ने पर इसका काम धीमा पड़ जाएगा, जिससे शरीर में कम इंसुलिन का उत्‍पादन होगा और आप मधुमेह की चपेट में आ जाएंगे।

5 गठिया और हार्ट की बीमारी:

जब ब्‍लड शुगर बढ़ता है तो खून में ग्‍लूकोज़ जमने लगता है, फिर इससे शरीर में केमिकल रिएक्‍शन होता है, जिससे कैटरैक्‍ट से ले कर गठिया और हार्ट की बीमारियां होने लगती है।

6 रोग होने की संभावना बढ जाती है:

मैदे को नियमित खाते रहने से शरीर का इम्‍यून सिस्‍टम कमजोर हो जाता है और बार बार बीमार होने की संभावना बढ़ने लगती है।

7 हड्डियां हो जाती हैं कमजोर:

मैदा बनाते वक्‍त इसमें से प्रोटीन निकल जाता है और यह एसिडिक बन जाता है जो हड्डियों से कैल्‍शियम को खींच लेता है। इससे हड्डियां कमजोर हो जाती हैं।

मैदा को चिकना और सफेद करने के लिए कई केमिकल और ब्लीच मिलाया जाता है। जिसके कारण इसमें फाइबर बिल्कुल भी नहीं बचता है। इसमें ब्लीचिंग के लिए कैल्शियम परऑक्साइड, क्लोरीन, क्लोरीन डाई ऑक्साइड आदि इस्तेमाल किया जाता है। जो कि सेहत पर बुरा असर डालती है।

ऐसे ही और  हैल्थी पोस्ट  पढ़ते रहने के लिए और नए  पोस्ट  के बारे में  जानकारी  प्राप्त करने के लिए हमारे ब्लॉग  को  Subscribe कीजिये. इस  पोस्ट से सम्बंधित प्रश्न पूछने के लिए नीचे  कमेंट कीजिये.

मेरे Amazon Store को देखने के लिए यहाँ क्लिक करें। 

 

 

Leave Comments

%d bloggers like this: